दोस्त की बहन को चोद ही दिया Hindi Desi Behen Sex Stories

दोस्त की बहन को चोद ही दिया Hindi Desi Behen Sex Stories
Total views : 2906
प्रेषक : राज
हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राज है, में जन्माष्टमी के दिन पैदा हुआ हूँ तो रास लीला करूँगा ही। ये स्टोरी कुछ अजीब है, लेकिन सच्ची है। मैंने दिल्ली इंजिनियरिंग की है, वहाँ मेरा एक दोस्त था उसका नाम चंदन था। अब में Ist ईयर का Ist सेमेंस्टर ख़त्म होने के बाद जब लौट रहा था, तब मुझे पता चला कि चंदन भी मेरे ही होम टाउन का है। फिर वो मेरे घर आया और में भी उसके घर गया। अब हम अच्छे दस्त बन गये थे। फिर जब में उसके घर गया तब मैंने पहली बार स्टोरी की हिरोइन यानी चंदन की बहन प्रिया को देखा। तब वो काफ़ी अच्छी फिगर वाली एक कमसिन सी हसीना थी, लंबे काले बाल, उभरे हुए बूब्स वाली एक लड़की जो मेरे दोस्त की बहन थी। तो फिर मैंने इंसानियत दिखाते हुए खुद पर कंट्रोल किया और ये इश्यू वहीं ख़त्म हुआ।
अब जब भी हम अपने होम टाउन जाते थे, तो में चंदन के घर आता जाता रहता था। अब में हमेशा प्रिया को घूरता रहता था, लेकिन में कभी जान नहीं पाया कि उसके दिल में क्या है? फिर जब में IInd ईयर में था तब मुझे पता चला कि प्रिया की शादी फिक्स हो गयी है, उसकी शादी हमारे एग्जॉम की तारीख के बीच में ही थी, तो में उसकी शादी में नहीं गया। फिर हमारे फाइनल ईयर में वो अपने पति के साथ अपने घर 3-4 दिनों के लिए चंदन से मिलने आई। तो में भी उससे मिलने गया, लेकिन उसने ऐसे बर्ताव किया जैसे वो मुझे जानती ही ना हो, तो मैंने भी उसे ज़्यादा भाव नहीं दिया, क्योंकि अब मेरी तरफ से भी कुछ नहीं था। फिर दिन गुज़रते गये और में वहाँ से दिल्ली चला गया और फिर एक साल बाद मैंने अपने होमटाउन में अपनी ही सॉफ्टवेयर कंपनी खोल ली। अब असली स्टोरी शुरू होती है इन दिनों में फेसबुक पर एक्टिव था, मैंने अपनी कंपनी के पिक्स अपडेट किए ही थे कि अगले दिन मुझे प्रिया की फ्रेंड रिक्वेस्ट मिली, तो मैंने एक्सेप्ट कर ली और फिर 2 दिन के बाद मुझे उसका मैसेज आया।
प्रिया : हाउ आर यू?
में : आई एम फाईन, हाऊ बाउट यू?
प्रिया : आई एम ऑल्सो फाईन, कैन आई हैव योवर वॉटसअप नंबर।
फिर मैंने उसे अपना नंबर दे दिया, फिर उसने मुझे वॉटसअप पर बहुत सारे फ्रेंडशिप वाले मैसेज किए, अब हमारी बात भी होने लगी थी।
फिर कुछ दिनों के बाद उसने अचानक से एक पिक सेंड किया तो मैंने उसे डाउनलोड किया तो पता चला कि ये एक चूत की पिक थी। अब में समझ तो गया था, लेकिन फिर भी उससे पूछा ये क्या है? तो उसने कहा कि ग़लती से चला गया वो एक्च्युयली मुझे मेरे एक फ्रेंड को सेंड करना था और गलती से तुम्हें चला गया, में उसे सेंड कर रही थी। फिर मैंने भी उसकी गलती समझकर अपने खड़े लंड का पिक उसे सेंड कर दिया। फिर उसने जो रिप्लाई किया उसे देखकर तो दंग रह गया, उसने लिखा था वाउ काश में अभी इसे चूस सकती। अब हमारे बीच सिर्फ़ और सिर्फ़ सेक्स चैट होने लगी थी। फिर काफ़ी दिनों तक सेक्स चैट होने के बाद मैंने सोचा कि अब चुदाई होनी चाहिए। फिर मैंने उससे मिलने को बोला, तो उसने कहा कि वक़्त आने दो, फिर ऐसे ही सब कुछ चलता रहा। फिर अचानक से उसने एक रात पूछा कि कल मेरे घर आ सकते हो, तो मैंने भी हाँ कर दी। दोस्तों ये कहानी आप भीआईपीचोटी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।
फिर अगले दिन में अच्छे से तैयार होकर उसके घर के पास गया और उसे कॉल लगाया। तो उसने बोला बस 15 मिनट घर पर दादा जी और में ही हूँ बस उनको ब्रेकफास्ट दे दूँ तो वो ऊपर के रूम में न्यूज़ देखने बैठेगे, फिर तू आ जाना। तो मैंने भी कहा कि ठीक है, अब में चुदाई की पोजिशन सोच रहा था तभी 5 मिनट में ही उसका कॉल आया और उसने कहा कि बाइक बाहर रोड़ पर ही लगाकर जल्दी से अंदर आ जा। तो में तुरंत उसके घर पर पहुँच गया और अंदर गया, फिर उसने दरवाजा लॉक कर दिया जिससे सारा ग्राउंड फ्लोर लॉक हो गया। अब ना कोई अंदर देख सकता था और ना ही कोई अंदर आ सकता था। फिर में सामने के रूम में जाकर बेड पर लेट गया, अब प्रिया नाइटी में थी और वो बहुत खूबसूरत लग रही थी। फिर मैंने उसे देखा और देखता ही रह गया, फिर वो मेरे पास आने लगी और मेरे पास आकर लेट गयी और कहा कि अब मेरी भूख मिटा दे, में कब से इस दिन का इंतजार कर रही थी।
फिर में उसके पास लेट गया और उसके बूब्स पर अपना हाथ फैरने लगा, उसके निप्पल टाईट थे। फिर उसने मेरा हाथ हटाया और अपनी नाइटी उतारते हुए कहा कि बाहर से क्या टच करता है? ले ना ये तेरे ही है कहते हुए उसने उसकी नंगी चूची मेरे हाथों में दे दी। अब में बेकाबू होकर उसके बूब्स दबाने लगा था और उसकी निप्पल से खेलने लगा था। अब में बहुत इन्जॉय कर रहा था कि उसने मेरा लंड पकड़ लिया और मेरी पेंट की चैन खोलने लगी। मैंने किसी लड़की का ये रूप आज तक नहीं देखा था, अब मेरी तो हालत खराब हो गई थी। फिर उसने मेरा लंड मेरी पेंट और अंडरवेयर में से बाहर निकाला और हिलाने लगी। अब में उसकी चूचीयों को अपने मुँह में लेने लगा था, अब वो ज़ोर-जोर से मेरा लंड हिलाने लगी थी। अब मेरी 2-4 बूँद बह चुकी थी यह सब मेरे लिए बिल्कुल नया था, फिर मैंने धीरे से उसकी गांड पर अपना हाथ रखा और उन्हें सहलाने लगा। अब प्रिया सिसकियां लेने लगी थी और मेरे लंड को और ज़ोर-जोर से हिलाने लगी थी, अब में पागल हुए जा रहा था। फिर मैंने उसे ज़ोर से पकड़ लिया, ये मेरा पहली बार था कि जब में यूँ किसी के साथ नंगा था।
फिर मैंने उसकी गांड के छेद पर अपनी उंगली फैरना शुरू किया। अब वो और बैचेन होने लगी थी, अब उसने मेरी गांड पर ज़ोर से अपने बड़े-बड़े नाख़ून चुभा दिए थे और अपने नाख़ून गाड़ने लगी थी। अब हम दोनों एक दूसरे में खो चुके थे, इसी बीच वो नीचे झुकी और मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी। अब में मदहोश हो गया था, अब तक मैंने जो सिर्फ़ पॉर्न मूवी में देखा था आज मेरे साथ हो रहा था। अब मेरा लंड पूरी तरह से खड़ा हो गया था। अब मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मेरा लंड आज तक इतना बड़ा कभी नहीं हुआ हो। फिर 10 मिनट तक उसने मेरा लंड चूसा और में उसके मुँह में ही झड़ गया, लेकिन तब भी मेरा लंड जैसे का जैसे ही खड़ा था।
अब मुझे ऐसा लग रहा था कि प्रिया किसी पॉर्न मूवी से निकलकर आई है। अब वो मेरी छाती पर किस करने लगी थी और फिर मेरी छाती से लंड तक किस करती चली जा रही थी और अब वो अपनी जीभ को मूव करने लगी। अब मुझसे और कंट्रोल ना हो सका और मैंने उसे धकेलकर नीचे लेटा दिया और उसके ऊपर आकर उसकी चूचीयों को मसलने लगा और उसकी चूत को अपनी उंगलियों से रगड़ने था। अब वो और ज़ोर से सिसकियां मारने लगी थी, फिर मैंने ज्यादा देर ना करते हुए उसकी चूत पर अपना लंड रखा और रगड़ने लगा। अब में सातवें आसमान में था, फिर मैंने मौका देखकर फाइनली अपना लंड उसकी चूत में घुसा ही दिया। अब मेरा लंड जोर के 3 झटको में ही उसकी चूत में पूरा अंदर चला गया था। अब प्रिया कांप उठी थी, लेकिन किसी अनुभवी के जैसे वो मुझ पर हावी होती गयी और फिर वो खुद अपनी कमर को हिला-हिलाकर चुदवाने लगी।
अब 5 मिनट तक ऐसे ही चुदवाने के बाद उसने कहा कि चल अब तू ही झटके मार ले। अब में मधहोश हो चुका था और फिर में ज़ोर-जोर से झटके मारने लगा। उसकी चूत बहुत मुलायम थी और उतनी ही मलाईदार चिपचिपे पानी से भरी हुई थी, अब भी सोचकर मेरा लंड खड़ा हो जाता है। अब में एक बार पहले झड़ चुका था तो अबकी बार में लंबी चुदाई के लिए तैयार था, अब में उसे अपनी फुल स्पीड में चोदने लगा था। अब प्रिया भी कभी मुझे नोचती, तो कभी अपनी कमर को आगे पीछे करने लगती। फिर उस दिन हम दोनों ने बहुत इन्जॉय किया ।।
धन्यवाद